TRADING से शेयर MARKET में बहोत सारे पैसे कमाए जा सकते है आजकल बहोत सारे लोग है जो TRADING करके अपना घर चला रहे है लेकिन ट्रेडिंग करना और ऊससे पैसे कमाना कोई आम बात नही है ये एक आर्ट और कला है जिसे हमलोग सिख सकते है

SHARE MARKET में लोग दो तरह से पैसे लगाये जाते है

INVESTING

TRADING

INVESTING :- किसी भी COMPANY के स्टॉक को अगर हम खरीदते है और हम उसे कम से कम एक साल या उससे अधिक सालो के लिए अपने पास DEMAT ACCOUNT में रखते है तो उसे किसी भी कंपनी या स्टॉक में INVEST करना कहते है

TRADING :- किसी भी स्टॉक या इंडेक्स को आज खरीद कर उसे कुछ दिनों में ही बेच देने को ट्रेडिंग कहते है इसका मतलब ये है की इसका टाइम एक दिन से एक महीने तक का होता है मतलब अगर हमने कोई भी स्टॉक आज ख़रीदा है तो हम उसे आज ही बेच दे या एक हफ्ते में बेचे या एक महीने में बेच दे उसे ट्रेडिंग करना कहते है लेकिन ट्रेडिंग बहोत तरह से की जाती है

TRADING
TRADING

आज हम सिर्फ ट्रेडिंग की बात करेंगे. ट्रेडिंग करने के लिए कोई CERTIFICATE या किसी COURSE की जरुरत नही होती है बस अनुभव की जरुरत होती है इसके लिए कम से कम 2 से 3 साल का अनुभव चाहिए इसके बाद ही कोई ट्रेडिंग से पैसे कमा सकता है नही तो बिना अनुभव के अगर आपने ट्रेडिंग में पैसे लगाये तो 95% चांस है की आपके पैसे डूब जायेंगे.अगर बिना अनुभव के ट्रेडिंग से पैसे आ रहे है तो मान लीजिये की आपकी किस्मत के बजह से आप TRADING से पैसा कमा रहे है

TRADING कई प्रकार के होते है  

DAY TRADING / INTRADAY TRADING

POSITIONAL TRADING

SCALPING TRADING

BREAKOUT TRADING

DAY TRADING / INTRADAY TRADING :- इसमें हमने अगर कोई स्टॉक को आज के दिन ख़रीदा है तो हमें उसे आज के दिन ही MARKET बंद होने के पहले 3:15 तक बेच देना पड़ेगा नही तो ब्रोकर आपके ट्रेड को AUTOMATICALLY बेच देगा चाहे आपको LOSS हो या PROFIT. और अगर ब्रोकर के तरफ से आपका ट्रेड काटा गया है तो उसका चार्ज भी अलग से आपको ही PAY करना पड़ेगा .

POSITIONAL TRADING :- POSITIONAL TRADING की बात करे तो इसमें हमारा अनुमान आज स्टॉक को खरीदने के बाद आज ही बेचने का नही होता है कम से कम एक हफ्ते से 15 दिन तक का टारगेट होता है इसमें अनुमान लगाया जाता है की स्टॉक में 2 से 4 दिन में एक अच्छा MOVEMENT आएगा और जिससे हमारा स्टॉक का प्राइस पढ़ेगा और हमें मुनाफा होगा .

SCALPING TRADING :- SCALPING TRADING करने के लिए हमें एक मिनट में फैसला लेना आना चाहिए. क्युकी इसमें ट्रेडर बहोत ही ज्यादा QUANTITY में ट्रेड करता है और ट्रेडिंग का TIMING 1 से 2 मिनट का ही होता है बस 2 मिनट के अन्दर ही आपको ट्रेड को लेना है और बहोत कम मुनाफे के साथ बहोत ही ज्यादा QUALITY में ट्रेड लेना है और तुरंत उसी वक़्त 1 से 2 मिनट में ट्रेड से निकल भी जाना होता है लेकिन इसके लिए बहोत ही ज्यादा अनुभव की जरुरत होती है नही तो आपके पैसे डूब जायंगे.

MINIMUM LOSS TRADING CONCEPT

BREAKOUT TRADING :- BREAKOUT ट्रेडिंग वो होती है जिसमे हम किसी स्टॉक का एक प्राइस निर्धारित करते है की इस प्राइस से उस स्टॉक का PRICE ऊपर या निचे जायेगा तो हम उस स्टॉक को खरीदेंगे या बेचेंगे . उसके लिए सबसे अच्छा INDICATOR PIVOT POINT है या हम खुद से भी इस PRICE को निकाल सकते है लेकिन उसके लिए अनुभव की जरुरत होती है जो हमें डेली TRADE करते – करते आती है

TRADING
TRADING

DAY TRADING के नियम

इंडिया में बहोत सरे लोग है जो डेली TRADING करते है लेकिन उन्हें मुनाफा कभी भी नही होता है क्युकी वो लोग उन्ही लोग के पीछे भागते है जो और दुसरे लोगो के पीछे भागते है

सच में कहू तो TRADING एक ऐसी चीज है जिसे हमें खुद में खुद से खोजना पड़ेगा की ट्रेडिंग का कोन सा स्टाइल मुझे सूट करता है मतलब कह लीजिये की मैं किस TYPE की ट्रेडिंग करने के लायक हु. क्या मैं एक DAY TRADER  / INTRADAY TRADER हु या POSITIONAL TRADER हु या किसी और टाइप का ट्रेडर हु . जिस दिन मुझे अपना ट्रेडिंग स्टाइल पता चल जायेगा उस दिन मेरा आधा काम हो जायेगा.

अब बात आती है की मुझे स्टाइल तो पता चल गई लेकिन ट्रेडिंग के लिए सबसे अहम् क्या है तो मैं आपको बता दू की ट्रेडिंग के लिए सबसे अहम् चीज हमारा EMOTION होता है अगर हमने अपने EMOTION पे कंट्रोल करना सिख लिया तो TRADING में पैसे कमाने से हमे कोई नही रोक सकता है EMOTION कंट्रोल करने से हमारा मतलब ये है की हमें अपने लालच और डर को कंट्रोल कर के रखना होगा

क्युकी ट्रेडिंग की दुनिया में कहा जाता है की अगर हमने ट्रेडिंग में अपना EMOTION कंट्रोल कर लिया तो 70% ट्रेडिंग हमने सिख लिया और बाकि का 30% में TECHNICAL ANALYST, INDICATOR और थोडा सा FUNDAMENTAL आता है जिसे सीखना पड़ता है लेकिन ये चीजे तो दुनिया की किसी भी INSTITUTE में आपको सिखा देंगे लेकिन EMOTION को कंट्रोल करना कोई नही सिखा पायेगा.   

Trading Account क्या होता है

एक ट्रेडिंग खाता एक ऐसा खाता है जिसमें हम अपने नाम के अनुसार अपने लिए शेयरों की खरीद बेच सकते हैं।

केवल इसके माध्यम से हम अपनी खरीद या बिक्री आदेश स्टॉक एक्सचेंज को भेज सकते हैं।

ऐसा करने के लिए, चाहे आप निवेशक हों या व्यापारी, आपको एक ट्रेडिंग खाता खोलना चाहिए।

एक ट्रेडिंग खाते पर बिक्री खरीदने के अलावा, आप बिक्री खरीदने के लिए पैसे भी जमा और निकाल सकते हैं।

आपको अपने ट्रेडिंग खाते में शेयरों की राशि जमा करनी होगी।

उसके बाद, आप उस शेयर को खरीदने का आदेश दे सकते हैं।

यह आदेश जो आपने रखा था वह स्टॉक एक्सचेंज (उदाहरण के लिए, एनएसई और बीएसई) को जाता है।

अन्य सभी लोगों से भी आदेश हैं।

आपको यह शेयर तब मिलेगा जब आप स्टॉक एक्सचेंज में स्टॉक को अपने ऑर्डर के अनुसार बेचेंगे।

और आपके ट्रेडिंग खाते से बहुत सारे पैसे काट लिए जाएंगे।

इस प्रकार, यह ट्रेडिंग स्टॉक खातों को खरीदने और बेचने का एक साधन है।

इंट्रा-डे ट्रेडिंग के लिए अच्छे BROKER

  • रिलायंस सिक्योरिटीज
  • 5 पैसा
  • एंजेल ब्रोकिंग
  • ज़ेरोधा
  • प्रोस्टोक्स

ALSO READ :

FUNDAMENTAL ANALYSIS KYA HOTA HAI

STOCK MARKET BEST INDICATOR

DAY TRADING STRATEGY कैसे सीखे